राज्य
समाचार ब्यूरो
अयोध्या फैसले से पहले प्रधान न्यायाधीश ने यूपी के मुख्य सचिव और DGP से की मुलाकात
Total views 6
राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में लगातार 40 दिन तक सुनवाई चलने के बाद 16 अक्टूबर को फैसला सुरक्षित रख लिया गया था।

अयोध्या मामले पर फैसले की घोषणा से पहले क्षेत्र में कानून-व्यवस्था पर चर्चा करने के लिए आज उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी से प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने मुलाकात की।

सूत्रों ने बताया कि अयोध्या भूमि विवाद मामले में अगले हफ्ते फैसला आने के मद्देनजर यह बैठक होगी।  सूत्रों ने बताया कि प्रधान न्यायाधीश ने उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी और डीजीपी ओम प्रकाश सिंह से बात की है और वह अपने चैंबर में उनसे मुलाकात करेंगे। सूत्रों के अनुसार ये सभी अधिकारी, प्रधान न्यायाधीश से मिल कर उन्हें कार्तिक पूर्णिमा, प्रकाश पर्व और कार्तिक मेले जैसे त्योहारों की सूचना देंगे, जिसकी वजह से 13 नवंबर तक लाखों भक्तों का जमावड़ा रहेगा। 

ऐसी संभावना है कि सुप्रीम कोर्ट अयोध्या में रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले पर अपना फैसला आगामी सप्ताह 17 नवंबर को प्रधान न्यायाधीश के कार्यकाल खत्म होने से पहले सुना सकता है क्योंकि गोगोई उस दिन सेवानिवृत्त हो रहे हैं। इनके बाद न्यायाधीश एस. ए बोबडे अगले प्रधान न्यायाधीश होंगे।

वहीं, इस संबंध में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में गुरुवार देर रात को पुलिस और प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों के साथ तीन घंटे की समीक्षात्मक बैठक की।

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में लगातार 40 दिन तक सुनवाई चलने के बाद 16 अक्टूबर को फैसला सुरक्षित रख लिया गया था। यह फैसला 17 नवंबर से पहले आने की उम्मीद है