अध्यात्म
समाचार ब्यूरो
मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ किसानों से फसलों के बारे सूचना प्राप्त करने तथा फसलों की समस्याओं को दूर करने का व्यवस्था तंत्र है।
Total views 87
यह जानकारी मुख्यमंत्री ने कल देर सायं उनके आवास पर मुलाकात करने आए आढ़ती एसोसिएशन के एक शिष्टमण्डल की बैठक में दी।

चंडीगढ़, 15 जनवरी - हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ किसानों से फसलों के बारे सूचना प्राप्त करने तथा उनकी फसलों की सभी प्रकार की समस्याओं को दूर करने का केवल मात्र एक व्यवस्था तंत्र है। इन सूचनाओं से राज्य में कृषि उत्पादकता बढ़ाने, फसलों के लाभकारी मूल्य देने, विपणन एवं खरीद प्रक्रिया को सरल बनाने में सहयोग मिलेगा। 

यह जानकारी मुख्यमंत्री ने कल देर सायं उनके आवास पर मुलाकात करने आए आढ़ती एसोसिएशन के एक शिष्टमण्डल की बैठक में दी।

मुख्यमंत्री ने आढ़तियों को आश्वासन दिया कि ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ योजना का उद्देश्य आढ़तियों के कारोबार पर किसी प्रकार के प्रतिकूल असर डालने का नहीं है। उन्होंने इस बात का भी आश्वासन दिया कि फसल खरीद का भुगतान आढ़तियों के माध्यम से किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उन मामलों को छोडक़र जहां किसान आढ़ती से अपनी बिक्री का भुगतान सीधा स्वयं के खाते में करवाने का विकल्प चुनता है व सम्बन्धित आढ़ती को कोई आपत्ति नहीं है तो उन मामलों में सीधा भुगतान किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने शिष्टमण्डल को आश्वासन दिया कि सभी फसलों की खरीद आढ़तियों के माध्यम से ही की जाएगी और इस खरीद प्रक्रिया के लिए दी गई उनकी सेवाओं का कमीशन नियमानुसार दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय एजेंसियों द्वारा की गई खरीद के मामले में लम्बित कमीशन के भुगतान के मामले को केन्द्र सरकार के समक्ष अनुकूल समाधान के लिए उठाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने इस बात से भी अवगत करवाया कि आगामी रबी खरीद मौसम के दौरान सरसों की खरीद सभी जिला मुख्यालयों की मण्डियों में की जाएगी। इसके अलावा  उन सभी मण्डियों में भी खरीद के समुचित प्रबंध किए जाएंगे, जहां किसान अपनी सरसों की बिक्री करना चाहेंगे।

मुख्यमंत्री ने शिष्टमण्डल से आगामी रबी खरीद मौसम को ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ योजना के तहत सफल बनाने में सहयोग देने की अपील भी की। आढ़ती एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि आढ़ती सरकार के साथ खड़े हैं और फसलों की खरीद प्रक्रिया को सुचारू बनाने में पूरा सहयोग देंगे और किसानों से भी सहयोग देने की अपील करेंगे।