स्वास्थ्य
नई दिल्ली चार दशकों में होमोयोपैथी के क्षेत्र में अपनी अलग पहचाने बना चुके, डॉ. बत्राज मल्टी-स्पेश्यलिटी होम्योपैथी क्लीनिक्स ने भविष्य में मरीजों के इलाज में क्रांतिकारी बदलाव लाने के लिए डॉ.बत्राज जीनो होमयोपैथी की पेशकश की है।
चंडीगढ़ केंद्र सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों को पीने का पानी सह्रश्वलाई करने वाली स्कीम नेशनल रुरल् ड्रिकिंग वॉटर प्रोग्राम (एन.आर.डी.डबल्यू. प्रोग्राम) के नियमों में बड़ा फेरबदल करने के लिए नक्शा तैयार कर लिया गया है । यदि यह संशोधन किया जाता है, तो पंजाब के ग्रामीण क्षेत्रों में चल रही स्कीमों को अधर में रोकना पड़ सकता है।
चंडीगढ़ हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि प्रदेश में पहली बार मातृ मृत्यु दर का आंकडा 26 अंक गिरकर 101 प्रति लाख रह गया है। हरियाणा, इस ‘सहस्राब्दी ( िमले िन य म ) विकास लक्ष्य’ (139 प्रति लाख) को प्राप्त करने वाले देश के सर्वोच्च 10 प्रदेशों में छठे स्थान पर रहा है।
नारियल का यूज जनरली पूजा- पाठ में होता है। लेकिन आप नहीं जानते होंगे नारियल का एक टुकड़ा आपको कितने सारे फायदे दे सकता है।
सूखे मेवों और बीजों से प्राप्त होने वाला प्रोटीन दिल की सेहत के लिए अच्छा होता है लेकिन मीट से प्राप्त होने वाले प्रोटीन के अधिक मात्रा में सेवन से ह्रदय संबंधी रोगों का खतरा बढ़ सकता है। एक शोध में यह पता चला है।
अगर आप आए दिन बाहर खाना खाते हैं तो अब सावधान हो जाइए क्योंकि इससे ना केवल मोटापे का खतरा बढ़ताहै बल्कि हार्मोन का संतुलन भी बिगड़ सकता है। एक अध्ययन में आगाह किया गया है कि जो किशोर बहुत ज्यादा फास्ट फूड खाते हैं तो अनजाने में ही उनके शरीर में हानिकारक रसायन प्रवेश करते हैं जिससे उनके हार्मोन का संतुलन बिगड़ सकता है।
गुरुग्राम हरियाणा विधानसभा की शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, व्यावसायिक शिक्षा, मैडिकल शिक्षा तथा स्वास्थ्य सेवाओं पर सबजैक्ट कमेटी ने आज गुरुग्राम में मैडिसिटी और फोर्टिस अस्पतालों का निरीक्षण किया। निरीक्षण में पाया गया कि इन अस्पतालों में समाज के निर्धन वर्ग के उतने मरीजो को नि:शुल्क ईलाज की सुविधाएं नहीं दी जा रही जितनो को सरकार की नीति व दिशा-निर्देशों के अनुसार दी जानी चाहिए थी।
गोहाना एसडीएम आशीष कुमार ने कहा कि गोहाना को पोलिथिन और अतिक्रमण मुक्त किया जाएगा, जिसमें दुकानदारों का सहयोग विशेष रूप से अपेक्षित है। पोलिथिन का प्रयोग पर्यावरण के लिए अत्यधिक नुकसानदायक है। इसी प्रकार अतिक्रमण से विभिन्न प्रकार की समस्याएं बढ़ती है। इसलिए पोलिथिन तथा अतिक्रमण किसी भी सूरत में स्वीकार्य नहीं है।